Uttar Pradesh Language: उत्तर प्रदेश में कितनी भाषा बोली जाती है?

Uttar Pradesh Language: आज मैं आपको बताने बाला हूँ की उत्तर प्रदेश की कितनी language है और उत्तर प्रदेश में कितनी भाषा बोली जाती है. बैसे तो उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है और हर प्रकार के धर्म के लोग यहाँ रहते हैं. भारत ही ऑफिसियल भाषा हिंदी है और हमारे पूरे भारत में सबसे ज्यादा हिंदी बोली जाती है. इसलिए आम तोर पर उत्तर प्रदेश की लैंग्वेज हिंदी ही है लेकिन उत्तर प्रदेश में बहुत सारी ऐसी भाषाएँ बोली जाती हैं जो मैं आपको बताने बाला हूँ.
Uttar Pradesh Language: उत्तर प्रदेश में कितनी भाषा बोली जाती है?

Uttar Pradesh Language: उत्तर प्रदेश में कितनी भाषा बोली जाती है?

उत्तर प्रदेश में ऐसे बहुत सारे क्षेत्र हैं जो हिंदी नहीं बोलते हैं और ज्यादा हिंदी नहीं समझ पाते हैं क्योंकि उन क्षेत्रों में हिंदी से मिलती जुलती भाषा बोली जाती है जो हिंदी भासा का ही एक रूप है लेकिन मैं आपको एक बात साफ़ करदू की हिंदी लिखने में एक जैसी होती है चाहे बोलने में अलग अलग हो. 
अगर हम उत्तर प्रदेश की ऑफिसियल भाषा की बात करें तो हिंदी और उर्दू है. उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा हिंदी और उर्दू बोली जाती है. और कुछ छोटी सी गांव क्षेत्र की भाषा हैं जो देहात साइड में बोली जाती हैं. अगर हम एक भाषा का जिक्र करें तो ये भाषा बहुत प्रचलित है जो सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश, और बिहार जैसे क्षेत्रों में भी बोली जाती है.
बुन्देल खंडी: भाषा को न ही उत्तर प्रदेश में बल्कि मध्य प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, जैसे राज्यों में बोली जाती है लेकिन जहां बोली जाती है बहां उसको अलग नाम मिल जाता है, जैसे की बुन्देल खंडी भाषा अगर बुन्देल खंड में बोली जाए तो उसे बुन्देल खंडी कहेंगे अगर यही भाषा छत्तीसगढ़ में बोली जाये तो इसे छत्तीसगढी भाषा बोला जायेगा लेकिन इसका मुख्य सिरोत हिंदी ही है. 

मैं आखरी में बस यही कहूंगा की उत्तर प्रदेश की मुख्य भाषा हिंदी है जो पूरे उत्तर प्रदेश में बोली जाती है और इसके साथ प्रान्ती भाषाएँ हैं जो सिर्फ प्रांतो के रहन सहन के अनुसार इस्तमाल होती है, मैं आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी।  

Post a Comment

0 Comments